केरला की बाढ के लिये भारत नें 700 करोड़ लेने से किया इन्कार |


Kerla flood
Kerla flood

 जैसा कि आप लोगों को पता है कि केरला में बाढ़ ने अपना कहर ढाया हुआ है जिसकी वजह से पूरा केरला तहस-नहस हो गया है रीसेंट न्यूज़ के हिसाब से लगभग 400 लोग वहां पर मर चुके हैं और लाखों लोग अपने घर से बेघर हो गए हैं और हजारों करोड़ की संपत्ति का नुकसान हो चुका है इन सबके बीच बाहर के देश केरला में जो बाढ़ आई हुई है उसके लिए पैसा ऑफर करते हैं जैसे इंडोनेशिया मलेशिया यूएई आदि ऐसे काफी देशों ने पैसा ऑफर किया है जो लगभग 750 करोड रुपये की राशि है जिसमे से केवल uae ने ही 700 करोड का आफर दिया है लेकिन सबसे बड़ी हैरानी की बात है यह है कि हमारी भारत सरकार ने यह पैसा लेने से मना कर दिया है

इस राशि को मना करने के बाद केरल के लोगों में बहुत गुस्सा फूट चुका है एक तो वह पहले ही त्रासदी के मारे हुए हैं ऊपर से हमारी भारत सरकार ने यह जो राशि लेने से मना कर दिया है इसकी वजह से वह लोग और भी सरकार से नाराज चल रहे हैं
हैरानी की बात तो यह है कि हमारी भारत सरकार ने अपनी तरह से सिर्फ 600 करोड रुपए का ही रिलीफ फंड जारी किया है जोकि बहुत कम है देश के अन्य राज्यों में भी थोड़ी बहुत मदद की है जैसे किसी ने 5 करोड़ 10 करोड़ 15 करोड़ अपने अपने हिसाब से राज्य सरकारों ने मदद करने की कोशिश की है


केरला की सरकार ने कहा है कि उन्हें 20000 करोड रुपए की आवश्यकता होगी अगर आने वाले दिनों में केरला को दोबारा खड़ा करना है और यह बहुत जरूरी भी है क्योंकि केरला जैसी crucial state को दोबारा खड़ा करना बहुत ही जरूरी है अगर इंडिया को grow करना है
अगर किसी देश में नेशनल डिजास्टर आता है तो उसकी कुछ पॉलिसी होती है कि वह उस नेशनल डिजास्टर से कैसे निपटेगा
अगर आप Google करोगे तो आपको नेशनल डिजास्टर पॉलिसी के बारे में पता लगेगा वहां पर साफ-साफ लिखा हुआ है पहले कॉलम में
कि अगर भारत में नेशनल डिजास्टर आता है तो भारत किसी भी देश के आगे झुकेगा नहीं वह किसी और देश से मदद के लिए गुहार नहीं करेगा वह अपने देश को खुद खडा करेगा येह उसके स्वाभिमान की बात है लेकिन अगर कोई भी देश अपनी तरफ से खुद वहां के लोगों की मदद करना चाहता है तो है तो भारत इसे स्वीकार भी कर सकता है |
केरला के मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर भारतीय uae मदद नहीं लेना चाहता तो भारत सरकार अपनी तरफ से उस राशि को compensate करे ,

वैसे अंदर की बात क्या है क्या है कि भारत सरकार ने इतनी बड़ी राशि को मना कर दिया क्या ऐसे कारण थे जो भारत सरकार को यह राशि लेने से रोक रहे थे इसका जवाब तो भारत सरकार ही दे सकती है |

No comments:

Powered by Blogger.